(18 टिप्स) SEO Tips In Hindi | 2021 के लिए

SEO Tips In Hindi के लिए आप बिलकुल सही जगह पर आये हैं। यदि आप एक Blogger हैं और आप एक Blog लिखते हैं तो सबका लक्ष्य होता है अपने ब्लॉग पर traffic लाना और traffic को अपने blog पर लाने के लिए जो सबसे अच्छा तरीका है वह Google है।

लेकिन Google से Traffic लाने के लिए आपको SEO की Knowledge होनी जरूरी है।

Blogging में traffic लाने के लिए search engines सबसे अच्छे होते हैं। आज बहुत से search engines हैं जैसे कि Google, Bing, Yahoo, Baidu, Yandex और बहुत सारे।

लेकिन Google आज के समय में दुनिया का सबसे बड़ा search engine है और google पूरी दुनिया में इस्तेमाल होता है और 70 से 80 प्रतिशत search google पर ही होती हैं।

इसलिए जब भी SEO की बात आती है तो Google के लिए ही आती है। अगर आपने Google के लिए SEO कर लिया तो आपने बांकी searh engines के लिए भी SEO कर लिया क्योंकि Google में SEO करना बांकी search engines के मुकाबले मुश्किल होता है।

आज के Time में SEO करना पहले के मुकाबले मुश्किल है। पहले जहाँ गिने चुने SEO factors थे आज वहीं 200 से ज्यादा SEO factors होते हैं।

अगर आपने अपने blog या blog post को इनके हिसाब से optimize कर दिया तो बहुत chance हैं कि आपका blog अच्छी position पर rank करेगा।

मैंने कुछ सबसे जरूरी और effective SEO factors और SEO factors के आधार पर कुछ SEO tips In Hindi दी हैं जो कि आपको पता होनी चाहिए।

SEO Tips In Hindi (SEO टिप्स हिंदी में)

seo tips in hindi

इन्ही SEO ranking factors को ध्यान में रखते हुआ मैंने आपको Basic and Advance SEO Tips In Hindi बताई हैं। इन SEO टिप्स के बारे में पढ़कर आप अपने SEO Knowledge को बढ़ा सकते हैं और इनके उपयोग से अपने Blog को Google में rank करा सकते हैं।

SEO Tips In Hindi मैंने आपको दो तरह से दी हैं जिनको आपको अपने पुरे blog या किसी post पर apply करना होगा। जब आपका Blog और post दोनों का आप SEO करेंगे तो ही आपका Blog rank होगा।

SEO एक लम्बी process है यह आपको तुरंत रिजल्ट नहीं देती है। SEO का result दिखने में कई दिन या महीने लग सकते हैं। यदि आपकी साइट नयी है तो उसे अच्छी ranking हासिल करने में 6 से 9 दिन लग जायेंगे।

तो यह कुछ SEO ranking factors हैं या उन्हीं के आधार पर कुछ tips हैं जो कि आपको पता होनी चाहिए

1. Keyword Research करें

Keyword Research करना blog post लिखने के लिए सबसे जरूरी है और सबसे पहले यहीं किया जाता है। सही तरीके से Keyword Research करने के लिए आपको यह पोस्ट पढ़ी चाहिए

Keyword research करते समय आप Keyword की volume, difficulty, और अन्य चीजें चेक करते हैं। आप इसमें similar या अन्य keywords की research भी करते हैं।  

2. User Intent का ध्यान रखें

User Intent Research का मतलब है कि यह रिसर्च करना की user का उस keyword को search करने के पीछे क्या उद्देश्य है। वह क्या जानना चाहता है।

इससे आपको आपके blog post के लिए कई topics मिल जायेंगे जो कि आप अपनी post में cover कर सकते हैं। और यह करने से आपके SEO में बहुत मदद मिलती है।

3. SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखें

Title Tag: किसी भी SEO Friendly Article लिखने की शुरुआत होती है Title लिखने से। आप जब भी अपनी ब्लॉग पोस्ट का Title लिखते हैं तो वह दो चीजों को ध्यान में रखकर लिखा जाता पहला Crawler और दूसरा User.

यदि आप ऐंसा title लिख देते हैं जो कि सिर्फ Crawler friendly है तो आपका ब्लॉग रैंक तो हो जायेगा लेकिन कोई आपके आपका user को अच्छा ही नहीं लगेगा और title पर क्लिक ही नहीं करेगा तो रैंक होने के वाबजूद भी आपके ब्लॉग पर traffic नहीं आएगा। 

रैंक होने के वाबजूद भी यदि आपका ब्लॉग के title पर क्लिक नहीं कर रहा है तो गूगल आपकी रैंकिंग काम कर देगा।

यदि आप ऐंसा title लिख देते हैं जो कि सिर्फ User friendly है तो आपका title crawler नहीं समझ पायेगा और आपका ब्लॉग रैंक नहीं होगा और traffic आने का सवाल तो पैदा ही नहीं होता है।

आपको अपना Title कुछ इस तरह से लिखना होगा जो कि User और Crawler friendly दोनों हो। 

मतलब आपका फोकस keyword आपकी पोस्ट के title में होना यह Crawler friendly है। इसके साथ आप इसे User Friendly बनाने के लिए उसमें numbers, date, और कुछ पावर वर्ड्स जैसे कि best, top, आदि।

seo tips in hindi title

आप इस बात का भी ध्यान रखें की आपकी पोस्ट का title 65 characters से कम का हो।

यदि आप अच्छा Title लिख देते हैं तो CTR (Click Through Rate) बहुत बढ़ जायेगा और आपकी post रैंक हो जाएगी।Search Description: Search Description वह होती है जो कि जब Google पर कोई Search करता है और यदि आपका result google में आता है तो आपको title के नीचे जो कुछ lines दिखाई देती हैं वह Search Description होती है।  

seo tips in hindi meta description

आपको Search Description में अपने Focus Keyword को Add करना होगा और कुछ 165 Characters के अंदर इसे पूरा करना होगा।  

Permalink: Permalink वह होती है जो कि आपके Title और Description के साथ दिखाई देती है। जो कि इस तरह होती है  

seo tips in hindi permalink

आपको इसमें ज्यादा कुछ नहीं बस focus keyword ही लिखना है और यह ही आपकी post का url होगा। यदि आप इसमें कुछ भी लिख देंगे तो यह बिलकुल भी crawler friendly नहीं है इससे आपकी post rank नहीं होगी।  

4. Quality Content लिखें

आप थोड़ा लम्बा article लिखे जिससे कि आपका content thin न हो। आप article को ज्यादा लम्बा न खींचें। आपके article में user के intent को पूरा करने वाली सभी चीजें हों। इससे article की google के लिए value और जायेगी।

आप अपने article को अच्छा लिखें। आप अपने article में bullet points और numbers का इस्तेमाल करके उसकी readability अच्छी बना सकते हैं। आप एक अच्छा आर्टिकल लिखते समय grammar mistakes न करें और आप short paragraphs लिखें।   

यदि आपक कोई ऐसी पोस्ट लिख रहे हैं जिसमें कई आप list बनारहे हैं तो आप Numbers या Bulletins का इस्तेमाल कर सकते हैं। जिस प्रकार मैंने अपनी SEO Tips In Hindi पोस्ट में list बनायीं है उसी प्रकार आप यदि ऐसी लिस्ट बना सके तो यह फायदेमंद होगी।   जहाँ जरूरत हो वहीँ पर आप List बनायें।  

Blog Post में Title और Heading के साथ Subheadings, Minor Headings भी इस्तेमाल होती हैं जैसे कि H2-Subheadings, H3-Minor Headings आदि। आपको अपनी blog post में इनका एक अच्छा Structure तैयार करना है।   यदि आप numbering भी subheading या minor heading में कर सकते हैं।  

आप SEO Review Tools से Html Heading Checker से यह check कर सकते हैं।    आप एक अच्छा structure बनाने के लिए Workflowy नाम का टूल इस्तेमाल इस्तेमाल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

5. Keyword Density

आपको अपने Focus Keyword को अपनी post के title, meta description, post URL (permalink) में तो include करना ही है साथ ही आपको keywords को अपनी post में कुछ बार इस्तेमाल करना है। आप keyword को शुरुआत और अंत में इस्तेमाल करना है। इसके साथ एक से दो बार बीच में भी इस्तेमाल करना है।

इस चीज को Keyword Density कहते हैं। आपको keyword density ज्यादा इस्तेमाल नहीं करनी है नहीं तो यह Google की नजर में spamming हो जाएगी। 

आपको Focus Keyword के साथ LSI Keywords या Related Keywords को भी Include करना होगा। एक तरीका है कि आप Google Auto Complete का इस्तेमाल करें। 

आप अपने focus keyword को type करके छोड़ दें इसके बाद आप को Google कुछ keyword show करेगा। जो भी keyword आपके keyword का duplicate हो आप उसे अपने article में add करें। 

इसी तरह keyword search करने के बाद आप google के footer में आएं और आपको यहाँ पर भी related keyword दिख जायेंगे।   आप इसके लिए LSI Graph Tool को इस्तेमाल कर सकते हैं।  

इन keywords को आप अपने हिसाब से जो कि आपकी post से related हों अपनी post में add कर सकते हैं। आप इसको keyword density में, sub headings में इस्तेमाल कर सकते हैं। 

यहाँ इस image में एक keyword Digital Marketing वाला है लेकिन अगर आप simple SEO सिखा रहे हैं तो आपको इसे अपने post में add नहीं करना है। आप फालतू और unrelated keywords अपनी post में न जोड़ें।

इससे आपके article को google में rank होने में मदद तो मिलती ही है साथ ही आपको सिर्फ एक keyword से traffic आने की जगह पर multiple keywords से single post पर traffic आएगा।

6. Internal Linking करें

Internal Linking करना On-Page SEO में बहुत जरूरी है। Internal Linking का मतलब होता है अपने ब्लॉग की अन्य पोस्ट जो कि आपकी कोई भी पोस्ट से रिलेटेड हैं उनकी link को अपनी उस पोस्ट में Include करना।

इससे आपको SEO में फायदा तो होगा ही साथ ही आपका एक User आपको 2 से 3 Page Views देकर जायेगा। आप सही जगह पर सही पोस्ट को link करें नहीं तो ऐंसा न करने पर आपको इसका कोई फायदा नहीं मिलेगा।

7. Outbound Link दें

आपने जिस प्रकार अपनी पोस्ट में related अन्य ब्लॉग पोस्ट को link किया था उसी प्रकार आपको इसमें भी करना है बस इसमें फर्क इतना है कि वह अन्य blog post आपकी site की ही थीं लेकिन इसमें वह post दूसरी site की होंगी।

आप एक से दो link दे सकते हैं लेकिन आप यह ध्यान रखें कि वह high authority site हो और उसके keyword google में अच्छी position पर रैंक हों या उस पोस्ट का content सबसे अच्छा हो। आप MozBar से किसी भी site का spam score check कर सकते हैं।

8. Link Building करें

SEO में link building की बहुत ही अधिक भूमिका है। Link Building का मतलब होता है Backlink बनाना। Baclink कई तरह से बनायीं जा सकती हैं।

Backlink बनाने से SEO में बहुत ही मदद मिलती है। आप Social Profile, Guest Post, और अन्य तरह से Backlink बना सकते हैं।  

9. Multimedia इस्तेमाल करें

Blog Post में दो चीजें होती हैं पहला text content और दूसरा multimedia जैसे कि Image, Screenshots, और videos. तो Text Content तो सबसे जरूरी है ही लेकिन यदि आप multimedia का इस्तेमाल अपने ब्लॉग में करते हैं तो आपको इसका extra benefit मिलेगा।

आप एक Main Image तो इस्तेमाल जरूर करें साथ ही यदि आप कोई चीज बता रहे हैं जिसमें आप screenshot से आसानी से बता सकते हैं तो आप उन स्टेप्स का Screenshot जरूर इस्तेमाल करें।

अब है video की बारी। आप अपने blog में video upload करके भी वीडियो use कर सकते हैं लेकिन मैं आपको सलाह दूंगा कि आप एक youtube channel बना लें और उस पर वीडियो अपलोड करें। इससे आप blogging के साथ youtube से भी पैसे कमा सकते हैं।

यदि आपके पास चैनल नहीं है या आप बनाना नहीं चाहते हैं तो आप youtube के किसी भी वीडियो को अपनी पोस्ट में लगा सकते हैं। इससे कोई परेशानी नहीं है।  

10. Images Optimize करें

जैसे कि Images SEO में बहुत फायदेमंद हैं लेकिन इनका सही तरीके से उपयोग न करना आपके ब्लॉग की रैंकिंग को पूरी तरह से गिरा सकता है।

आप image इस्तेमाल करते समय उनको optimize करना होगा। Image Optimize करने के 3 simple steps हैं

  • Compress Image Size: आपको आपकी हर image को compress करना होगा। इससे होगा ये कि आपकी जो image 100KB की होगी वह 40KB की हो जाएगी वो भी बिना Quality कम हुए। इससे आपकी blog post का size कम होगा और load time घटेगा जिससे कि यह आसानी से रैंक होगा। इसके लिए सबसे अच्छा टूल है TinyPNG.
  • Optimize File Name: जब कोई भी image आपके computer या mobile में होती है तो उसका एक file name होता है तो आपको वह file, image upload करने से पहले उसका नाम आपकी post के keyword या वह जिस चीज की है के रूप में लिखना है और फिर upload करना है। साथ ही आप file name में words के बीच space की जगह पर high pin (-) का इस्तेमाल करें।
  • Title Text And Alt Text: आप जब भी ब्लॉग post में image को add करते हो तो आपको इमेज के upload करने के बाद आपको Image को Optimize करने के कुछ option मिलते हैं। आपको यहीं साथ में एक ऑप्शन मिलता है Alt Text के नाम से। आपको इसमें आपका keyword या image जिस चीज के related है वह लिखनी होती है।

11. Old Post को Update करें

आपको आपके content को regular update करते रहना होगा। आपको अपनी ब्लॉग पोस्ट में time के साथ जरूरी update तो करने ही होंगे साथ ही यदि आपकी पोस्ट rank नहीं हो रही है तो उसकी हर कमी का पता करके उसे भी अपडेट करना होगा।

आप updated post को नयी date के साथ publish करें इससे आपका content google को fresh लगेगा।

इसी प्रकार मैं भी अपनी हर पोस्ट को अपडेट करता रहता हूँ।

12. Technical SEO करें

Technical SEO आपके blog के हर page SEO effect करता है। Technical SEO को करके आप अपने blog की Rankings बढ़ा सकते हैं। 

Technical SEO करने के लिए आपको इन चीजों को optimize करना होगा

  1. Optimize Robot.txt
  2. Optimize XML Sitemap
  3. Use SSL Certificate
  4. Make Mobile-Friendly Design
  5. Optimize Speed Of Site
  6. आगे पढ़ें

Blogger में Technical SEO की जानकारी के लिए यह Post पढ़ें: Blogger SEO Settings In Hindi

13. Technical SEO Audit करें

Technical SEO Audit करके आप website की जांच करके technical errors का पता लगा सकते हैं। इन errors का पता चलने के बाद आप इन्हें fix करके SEO को improve कर सकते हैं।

अगर आप technical SEO करते समय यदि कोई गलती कर देते हैं तो आप इसका पता भी SEO ऑडिट करके पता लगा सकते हैं।

इसके लिए आप ahrefs webmaster tool का उपयोग करके यह कर सकते हैं जो की फ्री है लेकिन इसके लिए मैं आपको woorank chrome extension का उपयोग करने की सलाह दूंगा।

14. Broken Links Fix करें

Broken Links आपकी साइट की रैंकिंग को डाउन कर सकती हैं इसलिए आप इन्हें हटा दें। Broken Link तब बनती हैं जब आपके blog पर कोई ऐंसी link हो जो कि internet पर है ही नहीं या 404 link है तो वह link broken हो जाती है।

अगर आप अपनी post में कोई link दें और यदि वह delete हो जाये या आप किसी गलत url को link कर दें तो वह broken link बन जाएगी। आप Broken Link Checker से Broken Links का पता कर सकते हैं और उन्हें हटा सकते हैं।

15. Site की स्पीड बढ़ाएं

आज google में rank करने के लिए content के बाद जो सबसे बड़ा ranking factor है वह है Site की स्पीड। Google site की speed पर बहुत ध्यान देता है। अगर आपकी site की speed बहुत कम है तो आपको rank करने में बहुत अधिक परेशानी होगी।

Site की स्पीड बढ़ाने के लिए आप अच्छी web hosting इस्तेमाल करें, अच्छी theme इस्तेमाल करे और यह करें:

Website की स्पीड कैसे बढ़ाये

16. User Experience अच्छा बनायें

User Experience कई तरह से आपके SEO में बहुत मदद करता है। Good Looking साइट बनाकर और navigation को आसान बनाकर आप User Experience बना सकते हैं। अच्छा User Experience आपके site के bounce rate को कम करने में बहुत मदद करता है।  

17. Low Competitive Keywords Target करें

शुरुआत में आपको low competitive keywords target करने चाहिए। क्योंकि नयी site के साथ high competition वाले keyword पर rank करना बहुत मुश्किल होता है।

जब low competitive keywords पर article लिख कर आप authority बना लें तो आप competition वाले keywords पर आर्टिकल लिख सकते हैं।

18. Long Tail Keywords टारगेट करें

नए bloggers बहुत बड़ी गलती करते हैं कि वह short tail keywords को target करते हैं क्योंकि short tail keywords बहुत ही अधिक competitive होते हैं जिससे कि नए blogger की पोस्ट उस पर रैंक नहीं कर पाती है।

आप short tail keywords को target जरूर करें लेकिन जब आप pro blogger बन जाएँ। लेकिन तब तक आप long tail keywords पर अपना focus रखें।

Long tail keywords पर आप बड़ी ही आसानी से rank कर सकते हैं और इससे आपके blog पर traffic भी आएगा।

यह कुछ Powerful SEO Tips in Hindi थीं जो कि हर blogger को पता होनी चाहिए।

यह tips आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकती हैं लेकिन जरूरी है कि आप इन टिप्स को अच्छी तरह से implement करें।   SEO एक लंबी Process है इसे होने में समय लगता है।

यह समय आपके blog के niche के competition पर निर्भर करता है और इस बात पर कि आप इन SEO Tips को कितनी अच्छी तरह से implement करते हैं। तो आपके लिए सबसे जरूरी है कि आप धैर्य रखें और Blog पर regular post करते रहें और अपनी SEO skills को भी improve करते रहें। 

कोई भी अन्य मदद के लिए आप Comment कर सकते हैं। मैं आपकी मदद जरूर करूंगा।

7 thoughts on “(18 टिप्स) SEO Tips In Hindi | 2021 के लिए”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top